Alovera

भारतीय संस्कृति में आयुर्वेद का एक विशेष योगदान है वैसे तो आयुर्वेद के अंदर अनेकोनेक जड़ी बूटियों का अताह सागर समय है जिनकी जानकारी आज भी पूरी तरह से नही हो पाई है फिर भी हमे जिन जड़ीबूटियों की जानकारी प्राप्त है उनको हम आज आप सबसे बाटना चाहते है वोकेहते है ना कि जान बांटने से बढ़ता है ।तो चलिए आज हम जिस जड़ीबूटी की बात कर रहे है वह है alovera ।

Alovera वैसे इसके कई नाम है जैसे आयुर्वेद में इसे धृतकुमारी आम बोलचाल की भाषा में ग्वारपाठा भी कहते है यह एक बहुत ही गुणकारी औषधी है।इसका पौधा कही पर भी बड़ी आसानी से लगाया जा सकता है ।इसको आप चाहे तो अपने घर की छत या बालकनी में एक छोटे से गमले में भी लगा सकते है ।

इसके गुणकारी लाभ

alovera के वैसे से तो अनेक फायदे है लेकिन हम आज उसके कुछ विशेष गुणों के बारे मे ही बात करेगे जो की निम्न है

1 sckin के लिए ये काफी लाभदायक है इसके गूदेदार जैल को निकाल कर उसको अपने चेहरे हाथों पैरों प लगाकर थोड़ी देर बाद मसाज करने के बाद साफ पानी से धो लो तो कुछ ही दिनों मे आपकी त्वचा का रंग काफी निखार जाता है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *